अलकेमिस्ट

गर दिल से कुछ चाहोगें

कायनात बनेगी सहायक

प्रसिद्ध बुक अलकेमिस्ट

है इसी बात की गायक

 

सैंटियागो एक चरवाहे ने

देखा एक अनोखा स्वप्न

टूटी चर्च में सोया था वो

स्पेन में हिन्दरलैंड वन

 

भाग्यदर्शी महिला बोली

मिस्र पिरामिड में खजाना

मिल जाए तुम्हे गर वहाँ

दस टका मुझे दे जाना

 

सैंटियागो मिला बूढ़े से

जो था सालेम का राजा

बड़ी सीख दी बूढ़े ने उसे

कहा जो इच्छा तू पा जा

 

क्रिस्टल व्यापारी के पास

सैंटियागो ने काम किया

रास्ते मे अंगेज मिला एक

जिसने आगे साथ दिया

 

मिस्र कारवाँ में शामिल वो

वॉर से बच ओएसिस आए

अलकेमिस्ट की खोज में

जंगल जंगल भटके जाए

 

कुँए पर फातिमा मिली

सैंटियागो को अच्छी लगी

फातिमा के प्यार में पड़ा

वॉर के डर से कारवाँ रुका

 

दो बाजो की लड़ाई देखी

कबीले के सरदार से कहा

जल्दी है युद्ध होने वाला

जा अपने काबिले को बचा

 

अगले दिन फिर हुई लड़ाई

सैंटियागो की हुई ख़ूब बड़ाई

सरदार ने खूब इनाम दिया

कॉउंसलर पद आफर किया

 

वहां उसे अलकेमिस्ट मिला

जो फिर उसके साथ चला

आगे एक काबिले ने पकड़े

जान पर बनी गए थे जकड़े

 

अलकेमिस्ट बोला जादू आए

सैंटियागो हवा है बन जाए

तीन दिन का समय मिला

नही तो मृत्युदंड होगा सिला

 

सैंटियागो बहुत परेशान हुआ

अलकेमिस्ट ने दिल को छुआ

जल्दी सीखा अपने पे क़ाबू

बना हवा और दिखाया जादू

 

कबीले से छूटे मिला ईनाम

अलकेमिस्ट चला फिर धाम

दिया उसे बहुत सा सोना

कहा जीवन मे कभी ना रोना

 

पहुँचा वो मिस्र पिरामिड

खोदा पर ना मिला खज़ाना

तभी वहां बहुत डाकू आए

देख कर सैंटियागो घबराए

 

सोना सैंटियागो से छीना

बोले यहाँ नही खजाना

कहा सपना एक मैंने देखा

स्पेन चर्च में छिपा खजाना

 

सैंटियागो की समझ आया

खज़ाना है जहाँ से मैं आया

भाग्य ने बड़ा खेल है खेला

यही दुनियादारी का झमेला

 

सब कुछ अपने अंदर छुपा

बाहर ना कभी कुछ मिला

आओ भीतर खोजे खजाना

जो चाहोगें वो ही तुम पाना

Leave a Comment

Your email address will not be published.