आओ धरती को बचाएं

शस्य श्यामल धरती हो अपनी

आओ मिलकर सब पेड़ लगाएं

किसी तरह का प्रदूषण ना हो

खुली हवा में हम सांस ले पाएं|

गर्म होते वायुमंडल को आओ

ग्रीन हाउस प्रभाव से बचाएं

ओजोन कवच मजबूत हो

पर्यावरण पर रहम फ़रमाएं|

ना वायु का प्रदूषण हो फिर

ना ही कहीं ध्वनि नाजायज

नदी नहरे भी साफ सुथरा रहे

आओ ये जागरूकता फैलाएं|

प्राकृतिक संसाधन है रक्षक

आओ लोगो को ये समझाएं

दोहन रोके इनका मिलकर

आओ इनके रक्षक बन जाएं|

चीरहरण करे जो माता का

आओ उस को सजा दिलाएं

सच्चे अर्थों में फर्ज निभा

आओ धरतीपुत्र कहलाएं|

आज विश्व पृथ्वी दिवस पर

हम सब मिलकर प्रण करें

तूने ही हमे जीवन दिया माँ

तेरी रक्षा में हम प्राण गवाएं

 

डॉ मुकेश अग्रवाल

Leave a Comment

Your email address will not be published.