आओ नेक इंसान बने

ना ही हिन्दू बने हम ना ही मुसलमान बने

सबसे पहले हम आओ अच्छे इंसान बने

रक्तपात से है सींचा हमने दुनिया को बहुत

महरम लगाने वाले अब वैध से इंसान बने

धर्म जाति के नाम पर बड़ा आतंक मचाया

आओ माफी मांग अब काबिल इंसान बने

इक्कट्ठे हो जाये तो स्वर्ग से बेहतर है दुनिया

आओ पुल की तरह जोड़ने वाले इंसान बने

बिखरे पड़े इधर उधर अपनी शक्ति गँवा रहे

आओ धागे की तरह पिरोने वाले इंसान बने

विधाता ने पैदा किया लेबल हम ने चिपकाए

समय है मुनासिब बड़ा आओ नेक इंसान बने

Leave a Comment

Your email address will not be published.