ईद उल फित्र

रमज़ान महीने के बाद प्रसिद्ध त्याहारों ये आता
चाँद दिखने के अगले दिन है इसे मनाया जाता

एक महीना रोजे रखने की खुशी दिखाई देती
पाक कुरान की आयतों की खनक सुनाई देती

करते अदा ईद की नमाज़ मस्ज़िद में संग रहते
सभी मुस्लिम देते है दान ज़कात जिसे वे कहते

एक दूजे के गले मिलते सेवइयां सब फिर खाते
मिठाई व उपहार बांटते घर घर अपनो के जाते

गिला शिकवे करते दूर ये झगड़े अपने निबटाते
प्रेम उल्लास से मिल कर ईद उल फित्र मनाते

आओ हम सब भी मिल कर ईद त्यौहार मनाए
गले लगा हर एक को सामाजिक सौहार्द बढ़ाए

-डॉ मुकेश अग्रवाल

Leave a Comment

Your email address will not be published.