दो जून

गरीब आदमी के यहाँ भूख से ना कुछ बड़ा

दो जून रोटी का सवाल मुँह बाए हुआ खड़ा

 

धर्म कर्म बाद की बाते पहले जरूरी निवाला

कहे सब विद्वान भूखे पेट ना भजन गोपाला

 

कोरोना मारेगा या नही भूख जान ले जाएगी

मार के पीछे पुकार नही किसी काम आएगी

 

सरकार ने बड़ी कोशिश की अब वो है लाचार

गरीब और मध्यमवर्ग पर पड़ रही दोहरी मार

 

लॉकडाउन खोलना होगा अब और चारा नही

भूख से इन्हें बचाने का और कोई सहारा नही

-डॉ मुकेश अग्रवाल

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.