मध निषेध

पहले लोग डरते थे शराबियो से,
अब शराबी डरते है,
लोगो से……,

कितना फर्क है आया,
मघ निषेध का कदम ये प्यारा,
सब के मन को भाया……,

चारो और शांति है,
चारो और खुशहाली है……,

सबके चेहरे कितने खिले हुए है,
छाई घटा निराली है…….,

चोराहे पर बोतल लेकर खड़ा,
नज़र नहीं कोई आता है…….,

पीकर दारू अब कोई,
बीवी को नहीं धमकाता है……,

मार पीट नहीं करता कोई,
आराम से हर कोई रहता है……,

स्वास्थ्य रक्षा रो रही है,
भूखा रोटी को पाता है…….,

हर तरफ से अब तो बस,
आता है यही पैगाम……,

शराब बंद करवाने वालो..
को शत शत प्रणाम……!!!

Leave a Comment

Your email address will not be published.