children, kids, childhood-5833685.jpg

याद आता है मुझे

वो तितलियों के पीछे भागे चले जाना

वो गन्ने के खेतो से फिर गन्नो को चुराना

वो हरक़तें बचकानी वो बचपन सुहाना

याद आता है मुझे गुजरा हुआ जमाना

 

स्कूल से आते ही बैग ठिकाने लगाना

घी नमक लगा कर रोटी का रोल बनाना

हाथ मे पकड़ उसे खेलने निकल जाना

याद आता है मुझे गुजरा हुआ जमाना

 

काँच के कंचो के लिए लड़ना लड़ाना

गिल्ली डंडे से गली में खेलना खिलाना

वो पकड़म पकड़ाई वो छिपना छिपाना

याद आता है मुझे गुजरा हुआ जमाना

 

एक की आवाज पे सब का दौड़े आना

कब्बड्डी के खेल में फिर सब को बुलाना

साइकिल उठा कर उसकी कैंची चलाना

याद आता है मुझे गुजरा हुआ जमाना

 

शतरंज व ताश के खिलाड़ी बन जाना

साँप सीढ़ी कभी लूडो को आजमाना

कभी हारना मित्रों से कभी उन्हें हराना

याद आता है मुझे गुजरा हुआ जमाना

 

बिजली के जाते ही चोन्तरे पर आना

पड़ोस के बच्चों की महफ़िल जमाना

मिलकर अंताक्षरी के दौरों का चलाना

याद आता है मुझे गुजरा हुआ जमाना

 

रोज माँ के पास शिकायतों का आना

माँ के द्वारा कोठरी में बंद किये जाना

मुर्गा बनने पर केवल कैद से छूट पाना

याद आता है मुझे गुजरा हुआ जमाना

 

परीक्षा के आने पर बुरा सा मुँह बनाना

बिना मन के ही फिर पढ़ते चले जाना

अव्वल आने पर जी भर ख़ुशी मनाना

याद आता है मुझे गुजरा हुआ जमाना

 

चाचा चौधरी और साबू को पढ़ते जाना

कभी चंपक तो कभी नंदन ले के आना

हर को भाता था कॉमिक्स का जमाना

याद आता है मुझे गुजरा हुआ जमाना

 

खत लिखवाने के लिए माँ का बुलाना

चिट्ठी के जरिये बात दूर तक पहुँचाना

वो शेरो शायरी का बीच मे चिपकाना

याद आता है मुझे गुजरा हुआ जमाना

 

गर्मियों में छत पर बिस्तरों का लगाना

दादी द्वारा परियों की कहानी सुनाना

और तारों की छाव में रात का बिताना

याद आता है मुझे गुजरा हुआ जमाना

 

पूरी मस्ती के साथ छुट्टियों का बिताना

माँ के साथ फिर मामा के घर को जाना

वहाँ भी लगभग ऐसा ही क्रम दोहराना

याद आता है मुझे गुजरा हुआ जमाना

 

पापा के साथ हर रोज सैर को जाना

कीकर के पेड़ से दातुन तोड़ के लाना

कभी कभी बाग में बांसुरी भी बजाना

याद आता है मुझे गुजरा हुआ जमाना

 

दूरदर्शन पर जब रामायण का आना

सब काम छोड़ सबका इकट्ठे हो जाना

और बाजारों में भी हड़ताल सी छाना

याद आता है मुझे गुजरा हुआ जमाना

 

होली पर मिलकर ख़ूब हुड़दंग मचाना

पक्के रंगों से फिर सब को भूत बनाना

पूरी पलटन के साथ शहर घूम के आना

याद आता है मुझे गुजरा हुआ जमाना

 

क्या बात थी उसमे क्या था वो जमाना

चाहता हूँ उन यादों को फिरसे दोहराना

वो हरक़तें बचकानी वो बचपन सुहाना

याद आता है मुझे गुजरा हुआ जमाना|

Leave a Comment

Your email address will not be published.