सोचो और अमीर बनो

आओ आज राज वो जाने
अमीरी का रहस्य पहचानें
थिंक एंड रिच ग्रो को समझे
नेपोलियन हिल की भी माने ।

1937 में पुस्तक ये आई
थी जिसने फिर धूम मचाई
आज भी गिनती सर्वश्रेष्ठ मैं
सबको है ये खूब लुभाई ।

13 सिद्धान्त इस मे लिखे
एक से एक बढ़ कर दिखे
जो भी अपना ले जीवन मे
परिवर्तन तत्काल ही दिखे ।

पहला सिद्धान्त इच्छा प्रबल
दूजा इच्छा में आस्था सबल
तीजा आत्म – सुझाव है देना
चौथा विशेष ज्ञान हो अटल ।

पांचवा कल्पना का विकास
छठा सुयोजना का प्रकाश
सातवां है चलना निरंतर
आठवां निर्णय का विश्वास ।

नोवां मास्टरमाइंड ग्रुप जानो
दस यौनेच्छा रूपांतरण ठानो
ग्यारह अवचेतन को समझो
बारह मन की शक्ति पहचानो ।

तेरह में छठी इंद्री का विकास
पुर्वानुमान का हो फिर आभास
इस तरह हो 13 गुण विकसित
जो चाहोगे फिर आएगा पास ।

अमीर बनोगे तुम धन से भी
अमीर बनोगे संबंधों से भी
अमीर तुम्हारा समय भी होगा
अमीर बनोगे तुम वैभव से भी ।

चारो तरफ दीवाली होगी
नव निर्माण की होली होगी
जब तुम अमीर बन जाओगे
दृष्टि भी नई नई सृष्टि होगी ।।

Leave a Comment

Your email address will not be published.