hanuman, god, hindu-5998491.jpg

हनुमान जयंती

अनन्य भक्ति यदि सीखनी

शरण हनुमान की जाते है

श्रद्धा भाव से नमन कर

उनकी जयंती मनाते है|

गदा हाथ मे धारण किये

सिंदूर बदन पर लगाते है

राम नाम ही जीवन इनका

ये रामभक्त कहलाते है|

भूख लगने पर आकाश में

सूरज को पकड़ने जाते है

वायु सा वेग पाया इन्होंने

ये मारुति कहलाते है|

कोई कहता बजरंगी इनको

कहीं पवनपुत्र कहलाते है

अंजनी है इन की जननी

ये केसरीनंदन कहलाते है|

सीता माँ का पता लगा

सबके प्रिय बन जाते है

रावण की लंका जला के

ये रामदूत कहलाते है|

हिमालय से संजीवनी ला

लक्ष्मण के प्राण बचाते है

बुद्धि बल और भक्ति की

ये त्रिवेणी कहलाते है|

श्रीराम के सब कामो को

पल में सिद्ध कर जाते है

संकट हरते है सभी के

ये संकटमोचक कहलाते है|

अनन्य भक्ति यदि सीखनी

शरण हनुमान की जाते है

श्रद्धा भाव से नमन कर

उनकी जयंती मनाते है|

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.