आरक्षण की आग मै


आरक्षण की आग मै,
जलाया माहरा हरयाणा सै !!
देशा देशा मैं मसहूर था,
जित दूध दही का खाना सै !!!

36 बिरादरी हरयाणा मैं
घने मजे तै रह री थी
आपस में प्यार मलहजे मै
अपनी अपनी कह री थी
पता नी किस की नजर लैग गी
पगलाया माहरा हरयाणा सै
आरक्षण की आग मैं
जलाया माहरा हरयाणा सै

कुछ लोगा नै अपनी राजनीति
चलावन मै मजे आवै सै
लोगों नै आपस मै लड़ा कै
अपना उल्लू सीधा करांव सै
इन्ही लोगो के स्वार्थ नै
उकसाया माहरा हरयाणा सै
आरक्षण की आग मै
जलाया माहरा हरयाणा सै

सब तै अलग थम पड़जोगे
यो बात समज न आवै सै
जाट भाइयो इब मान भी जाओ
पूरा हरयाणा समझावै सै
इस चक्रव्यूह मैं थम नै क्यों
उलझाया माहरा हरयाणा सै
आरक्षण की आग मै
जलाया माहरा हरयाणा सै

आरक्षण एक घुन सै
जो समाज नै खाए जा राह सै
जात-पात के इस खेल मैं 
क्यों प्यार नै भुलाए जा राह सै
इस खेल के चँगुल मै थम नै
फसाया माहरा हरयाणा सै
आरक्षण की आग मै
जलाया माहरा हरयाणा सै

देस मै गर भाई चारा
फेर तै ले के आना सै
ख़त्म करो यो आन्दोलन
प्यार तै अपनी बात कहो
निचे तै ऊपर सब सुनै गे
यो प्यारा माहरा हरयाणा सै
आरक्षण की आग मै
जलाया माहरा हरयाणा सै !!

 

 

Visit fbetting.co.uk Betfair Review