हमारी भी बधाई है

नरो में इंद्र है जो,

वो नरेश कहलाता है !

सब के दिलो पर राज है करता,
सब के मनो को लुभाता है !

सन १९८५ में एक,
शुभ समय फिर आता है !

उषा संग विवाह से,
जीवन सफल हो जाता है !

सब से पहले गरिमा,
इन की बगिया महकाती है !

फिर अर्चित और आकाश से,
जीवन में खुशियाँ आती है !

बच्चो से उम्मीद है,
ये गौरव बढाएंगे !

माता पिता का नाम,
पूरी दुनिया में चमकाएंगे !

शादी की २५वी वर्षगाँठ पर,
इकठा हुआ सारा परिवार !

बधाई देने आज,
सभी मित्रगण,रिश्तेदार !

आज इनकी रजत जयंती पर,
हमारी भी बधाई है !

जीवन में सब खुशिया मिले,
विधाता से दुहाई है !

Visit fbetting.co.uk Betfair Review