Month: December 2021

अहंकार बनाम आत्मा

बाहर अहंकार भीतर आत्मा अहंकार से है ढका परमात्मा   अहंकार है ज्यूँ सागर में लहर आत्मा है ज्यूँ सागर हो स्थिर   अहंकार दर्पण की धूल मानिद आत्मा जैसे हो दर्पण ख़ालिस   इक्कट्ठे दोनों का अस्तित्व नही अहंकार पास में तो आत्मा नही   जिस दिन होगा अहंकार खत्म उस दिन आत्मा के …

अहंकार बनाम आत्मा Read More »

संस्कृति के चार अध्याय

रामधारीसिंह दिनकर की ये है एक अद्वितीय कृति भारत मे हुई चार क्रांतियां बनाती है देश की आकृति   पहली क्रांति जब हुई जब आर्यो का यहां हुआ आना मिले आर्येतर जातियों से बुना नया एक ताना बाना   दूसरी क्रांति बुद्ध महावीर के आने से हुई थी उत्पन्न वेद उपनिषद को चुनोती सामंजस्य का …

संस्कृति के चार अध्याय Read More »

हर हाल में भला

प्रशंशा में भी भला निंदा में भी भला प्रशंशा से प्रेरणा निंदा से मंथन मिला   सुख में भी भला दुख में भी है भला सुख से ही शांति दु:ख शक्ति में ढला   लाभ में भी भला हानि में भी है भला लाभ से संतोष हानि चिंतन की कला   जीत में भी है …

हर हाल में भला Read More »

दीवाली से पहले दीवाली

दीवाली से पहले दीवाली आज सारा देश मनाएगा हर भारतवासी अपने घर घी के पांच दिये जलाएगा   क्योंना हो दिन उत्सव का क्यों ना हो आज दीवाली अयोध्या में श्रीराम मंदिर का शिलान्यास हो जाएगा   बहुत लंबे इंतजार के बाद ख़ुशी का ये पल आएगा बरसो की इच्छा पूर्ण होगी रामलला घर को …

दीवाली से पहले दीवाली Read More »

किशोर कुमार

अपने निराले अंदाज से सबको दीवाना बनाते थे आवाज में था जादू ऐसा रुलाते भी हंसाते भी थे   सिंगर गायक और राइटर ये एक म्यूजिशियन भी थे बेमिसाल व्यक्तित्व वाले डायरेक्टर प्रोड्यूसर भी थे   सब भाषाओं में गाने गाए 8 फ़िल्मफ़ेयर हिस्से आए कई स्टार्स की आवाज बने भारत के ये सुर सम्राट बने …

किशोर कुमार Read More »

अहम

केवल अहम के कारण रिश्तों में आती है दरार अहंकार ही आड़े आता जीत की करता पुकार   व्यक्ति जब ये ही समझे सिर्फ मेरा पक्ष ही उत्तम दूजे के दृष्टिकोण को वो हमेशा बस माने अधम   अपने को स्थापित करने पेश करे वो तथ्य भ्रामक सारहीन बातों को रखता ओर हो जाता आक्रामक …

अहम Read More »

अलकेमिस्ट

गर दिल से कुछ चाहोगें कायनात बनेगी सहायक प्रसिद्ध बुक अलकेमिस्ट है इसी बात की गायक   सैंटियागो एक चरवाहे ने देखा एक अनोखा स्वप्न टूटी चर्च में सोया था वो स्पेन में हिन्दरलैंड वन   भाग्यदर्शी महिला बोली मिस्र पिरामिड में खजाना मिल जाए तुम्हे गर वहाँ दस टका मुझे दे जाना   सैंटियागो …

अलकेमिस्ट Read More »

कर्म कर ,ना फल की इच्छा

दुःख से बचना चाहते गर तो एक काम करना होगा इच्छाओं व अपेक्षाओं को अपने से दूर धरना होगा   सारी परेशानियों की जड़ ये चाहत और उम्मीद ही है जीवन चाहते हो गर सुखी इनसे हर हाल बचना होगा   जो सम्मान पाने की खातिर हम सारी उम्र फिरे भटकते ये अब जी का …

कर्म कर ,ना फल की इच्छा Read More »

शहीद उधमसिंह

उधम सर्वधर्म समभाव प्रतीक राम मोहम्मद सिंह नाम किया बचपन मे ही हुए थे अनाथ ये जीवन आजादी के नाम किया   केवल उन्नीस साल के थे युवा जब जलियाँवाला में कांड हुआ प्रतिज्ञा जनरल डायर हत्या की जब घटना से साक्षात्कार हुआ   उधम पहुँचे लंदन उसको मारने उचित समय का इंतज़ार किया एशियन …

शहीद उधमसिंह Read More »

मुंशी_प्रेमचंद

गोदान गबन सी रचनाएं जिन के द्वारा गयी रची आओ याद करे मुंशी को यादे उनकी दिल मे बसी   साहित्य के फैले नभ में मुन्शी ध्रुवतारे से शोभित उनकी कीर्ति पताका से भारत जग में आलोकित   गरीब घर ग्रामीण अंचल साधारण परिवेश में पले कालजयी कलम के धनी असाधारण सोच में ढले   …

मुंशी_प्रेमचंद Read More »